सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद टीवी न्यूज चैनलों और सोशल मीडिया पर बॉलीवुड के खिलाफ एक अभियान चलाया जा रहा है. बॉलीवुड को ड्रग्स और माफिया का अड्डा बताया जा रहा है. बड़े-बड़े सितारों और फिल्मकारों की पगड़ियां उछाली जा रही हैं. मीडिया के जरिये बॉलीवुड को बदनाम करने के हर हत्कंडे अपनाये जा रहे हैं. अब तक मुंबई फिल्म इंडस्ट्री खामोशी से यह सब देख रही थी, लेकिन अब जब पानी सर से ऊपर बहने लगा है तो बॉलीवुड के 34 प्रोडयूसरों ने दिल्ली हाईकोर्ट में कई मीडिया घरानों के खिलाफ मामला दायर कर दिया है.

खबरों के मुताबिक, 12 अक्टूबर को दिल्ली हाईकोर्ट में एक केस दायर किया गया है. चार बॉलीवुड स्टूडियो समेत 34 टॉप फिल्ममेकर ने रिपब्लिक टीवी, अर्नब गोस्वामी, चैनल के प्रदीप भंडारी और टाइम्स नाऊ चैनल के राहुल शिवशंकर और नाविका कुमार के खिलाफ केस दर्ज कराया है.

केस करने वालों में शाहरुख खान का रेड चिलीज एंटरटेनमेंट, सलमान खान फिल्म्स, आमिर खान प्रोडक्शंस, अजय देवगन फिल्म्स, करण जोहर का धर्मा प्रोडक्शंस और फरहान अख्तर का एक्सेल एंटरटेनमेंट शामिल है.

इस याचिका में अपील की गई कि बॉलीवुड सेलिब्रिटीज के खिलाफ मानहानिकारक टिप्पणी टेलीकास्ट न की जाएं और उन पर मीडिया ट्रायल करते समय नियंत्रण रखा जाए. साथ ही याचिका में कहा गया कि एक्टर और फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के निजता के अधिकार का हनन न हो.

बॉलीवुड के इन सितारों और फिल्मकारों ने अपनी याचिका में कहा है कि बचाव पक्ष केबल टेलीविजन नेटवर्क्स नियम 1994 के तहत प्रोग्राम कोड के प्रावधानों का पालन करे और बॉलीवुड के खिलाफ प्रकाशित किए गए अपमानजनक कंटेंट को वापस ले या हटाए.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?