किसी ने सच ही कहा है कि पाप किसी को भी नहीं छोड़ता है, चाहे वो सन्यासी का भेष ही क्यों न धारण कर ले. यही हाल कोरोना की फर्जी दवा बेच कर करोड़ो रुपये कमाने वाले बाबा रामदेव के साथ हो रहा है. जिनकी कंपनी पतंजलि में कोरोना ने कोहराम मचा दिया है. पतंजलि में काम करने वाले 83 लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं. अब खुद रामदेव की भी कोरोना टेस्ट करने की तैयारी की जा रही है.

हरिद्वार स्थित रामदेव की कंपनी पतंजलि योगपीठ में 83 लोग कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. सभी संक्रमितों को आइसोलेट कर दिया गया है. इतनी बड़ी तादाद में पतंजलि में कोरोना संक्रमितों के मिलने से प्रशासन में हड़कंप मच गया है.

कोरोना की दवा के नाम पर दुनिया भर को बेवकूफ बनाने वाले रामदेव की पतंजलि योगपीठ के कई संस्थानों में हर दिन कोरोना के मरीज मिल रहे हैं. हरिद्वार के सीएमओ डॉक्टर शंभू झा ने बताया कि 10 अप्रैल से अब तक पतंजलि योगपीठ आचार्यकुलम और योग ग्राम में 83 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं. सीएमओ ने बताया कि जरूरत पड़ने पर बाबा रामदेव की भी कोरोना जांच की जाएगी.

आपको याद होगा कि पिछले साल जब सारी दुनिया कोरोना वायरस का वैक्सीन तैयार करने की कोशिश में लगी हुई थी. तब रामदेव कहीं से अचानक कोरोनील नामक एक दवा ले आये थे और दावा किया था कि इससे कोरोना सौ फीसदी ठीक हो जायेगा. लेकिन रामदेव की यह दवा पूरी तरह फर्जीवाड़ा साबित हुई. जब इस दवा की पोल खुल गई तो इसे इम्यूनिटी बुस्टर के रुप में बेचा जाने लगा.

मोदी राज में खुद को कानून से भी ऊपर समझ रहे रामदेव लेकिन बाज नहीं आये, उन्होंने अपनी कोरोना की तथाकथित दवा कोरोनील को फिर से इस साल लांच किया. इस कार्यक्रम में दो-दो केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन और नितिन गडकरी भी शामिल हुए थे. दोनों मंत्रियों ने इस दवा को कोरोना की इलाज में बेहद सफल बताया, लेकिन जब देश में कोरोना की दूसरी लहर तबाही मचा रही है तो न सिर्फ दोनों मंत्री गायब हैं, बल्कि कोरोनील का नाम भी नहीं ले रहे हैं. अब रामदेव की कंपनी में इतने सारे लोगों का कोरोना संक्रमित होना यह साबित करता है कि रामदेव ने कोरोना के नाम पर एक बेकार सी दवा बाजार में ला कर लाखों लोगों को झांसा दिया और करोड़ों रुपये कमा लिए. दूसरे किसी देश में ऐसा करने वाले को जेल हो सकती थी, लेकिन यहां तो रामदेव वीआईपी बने घूम रहे हैं और लोगों को प्रवचन दे रहे हैं

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?