भारत के लोगों को यह बात बड़ी अजीब लगेगी, लेकिन यह सच है कि कई अमेरिकी टीवी चैनलों ने गुरुवार की देर रात राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लाइव टेलिकास्ट को अचानक बंद कर दिया. टीवी चैनलों का कहना था कि राष्ट्रपति ट्रंप चुनावों में हो रही हार को देखते हुए कई मनगढ़ंत आरोप लगा रहे थे और चैनलों के जरिए झूठी सूचनाएं दे रहे थे. राष्ट्रपति चुनाव संपन्न होने के बाद यह डोनाल्ड ट्रंप का पहला सार्वजनिक संबोधन था.

दूसरी बार राष्ट्रपति बनने की कोशिश कर रहे डोनाल्ड ट्रंप ने 17 मिनट के अपने संबोधन में कई निराधार दावे किए और उकसाने वाली बातें कहीं. उन्होंने जोर देकर कहा कि डेमोक्रेट्स अवैध वोट का इस्तेमाल कर हमसे चुनाव चोरी करने की कोशिश कर रहे हैं.

अमेरिका के MSNBC टीवी चैनल के एंकर ब्रेन विलियम्स ने लाइव कवरेज के दौरान कहा, “ठीक है, यहां हम फिर से अमेरिकी राष्ट्रपति के लाइव टेलिकास्ट को न सिर्फ बाधित कर रहे हैं, बल्कि उनकी बात दुरुस्त भी कर रहे हैं.” इसके बाद चैनल ने फौरन राष्ट्रपति के लाइव प्रोग्राम को बंद कर दिया.

इस चैनल के अलावा NBC और ABC न्यूज ने भी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लाइव प्रोग्राम को बंद कर दिया. CNN के जेक टैपर ने कहा, “संयुक्त राज्य अमेरिका के लोगों के लिए यह दुखद रात थी, जब लोगों ने राष्ट्रपति को चुनाव चोरी करने का झूठा आरोप लगाते देखा.” उन्होंने कहा, राष्ट्रपति ने “झूठ पर झूठ बोलने के बाद चुनाव चोरी होने के बारे में” बिना किसी सबूत के “सिर्फ मुस्कुराते हुए” बताया, जो खेदजनक है.

अमेरिकी टीवी चैनलों ने जो किया, भारत में तो उसके बारे में सपने में भी नहीं सोचा जा सकता है, जबकि यहां प्रधानमंत्री से लेकर दूसरे नेता तक दिन-रात टीवी पर झूठ बोलते रहते हैं. टीवी चैनल न सिर्फ उनके झूठ को दिखाते हैं, बल्कि उसे सच साबित करने की भी कोशिश करते हैं.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?