राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने बेहद ऐतिहासिक फैसला लेते हुए 31,000 पदों की भर्ती को नियुक्ति दे दी है जिसके बाद बेरोजगार युवाओ मे खुशी का माहौल है ये प्रदेश के लिये ऐतिहासिक क्षण भी हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए कहा कि ”

31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती को मंजूरी दे दी है। रीट परीक्षा होने के बाद इन शिक्षकों की भर्ती की जाएगी।
उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020-21 के बजट भाषण में कुल 53 हजार पदों की भर्ती की घोषणा की थी। इनमें से 41 हजार पद शिक्षा विभाग के हैं। शिक्षा विभाग ने 31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती के संबंध में प्रस्ताव वित्त विभाग को भेजा था, जिसे मंजूरी दे दी है। इन पदों पर भर्ती से राज्य सरकार पर 2 साल तक परीवीक्षा काल में 881.61 करोड़ और इसके बाद 1717.40 करोड़ रूपये प्रतिवर्ष का वित्तीय भार आयेगा।
282 क्रमोन्नत राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में 2489 अस्थाई पदों के सृजन को मंजूरी दे दी है। इनमें से प्रधानाध्यापक के 104, वरिष्ठ अध्यापक के 1692, अध्यापक के 411 एवं कनिष्ठ सहायक के 282 पद शामिल हैं।”

आपको बताए कि इस परिस्थिति मे जब देश कोरोना से जुझ रहा है वहा मुख्यमंत्री के इस ऐतिहासिक फैसले से प्रदेश भर के युवाओ मे काफी उत्साह हैं।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?