मप्र विस चुनाव 2018 मे 15 साल बाद सत्ता मे आयी कांग्रेस की सरकार अधिक देर तक नही रह सकी सत्ता मे आने के एक साल बाद ही कमलनाथ की सरकार गिर गयी लेकिन जिन परिस्थितियों में सरकार गिरी थी वो अब परिस्थितियां बदल गयी है प्रदेश का माहौल अब फिर से बीजेपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के खिलाफ हैं यही अब छोटे बडे सर्वे व ऑनलाइन पोल मे सामने आ रहा हैं।

पंजाब केसरी मप्र द्वारा करवाये ऑनलाइन पोल मे बीजेपी के लिये करारा झटका तो वही विपक्षी कांग्रेस के लिये सुखद खबर आ रही हैं गौरतलब है कि अभी दो दिन पूर्व ही मप्र के उज्जैन से सांसद प्रेमचंद गुड्डू ने कांग्रेस की सदस्यता ली है इस तरह से हम कह सकते है कि बीजेपी मप्र में लगातार कमजोर हो रही हैं।

पंजाब केसरी मप्र के ऑनलाइन सर्वे मे मप्र के मतदाताओ से सवाल किया कि ” मप्र में होने वाले उपचुनावों मे आप किनका समर्थन करेगे?”

इस ऑनलाइन पोल मे कुल 2 लाख 10 हजार लोगो ने अपनी राय दी जिसमे कांग्रेस को 1,13,000 वोट तो वही बीजेपी को महज 97,000 वोट ही मिले इस तरीके से इस सर्वे मे सामने आया कि 54% मप्र के वोटर चाहते है कि इन उपचुनावो में कांग्रेस को सफलता मिले ताकि पुन: कमलनाथ मुख्यमंत्री बन सके।

दावा – सिंधिया समर्थको को बीजेपी नही देगी उपचुनाव में टिकट

1 COMMENT

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?