क्या भारतीय जनता पार्टी में कैलाश विजयवर्गीय का कद छोटा होता जा रहा है। प्रश्न इसलिए उपस्थित हुआ है क्योंकि भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व ने कैलाश विजयवर्गीय के पास से पश्चिम बंगाल का स्वतंत्र प्रभार छीन लिया है। अब कैलाश विजयवर्गीय के साथ अमित मालवीय पश्चिम बंगाल के मामले देखेंगे।

राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा घोषित राज्य प्रभारियों की नई लिस्ट के अनुसार बीजेपी के आईटी सेल चीफ अमित मालवीय अब पश्चिम बंगाल के मामलों में कैलाश विजयवर्गीय को सहयोग करेंगे। (भारतीय जनता पार्टी में ‘सहयोग करेंगे’ से तात्पर्य कई बार ‘चार्ज लेंगे’ से होता है। क्योंकि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्कार अपने विफल नेताओं को अपमानित करने के नहीं है, इसलिए उन्हें इस तरह के शब्दों के साथ सम्मान पूर्वक किनारे किया जाता है।)

गृह मंत्री अमित शाह के करीबी माने जाने वाले मुरलीधर राव को मध्यप्रदेश का प्रभार सौंपा गया है। इसका अर्थ यह हुआ कि भले ही भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष कोई भी हो परंतु मध्यप्रदेश के संगठन पर अमित शाह की सीधी पकड़ बनी रहेगी।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?