जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने करौली जिले में एक मंदिर के पूजारी की हत्या के मामले को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा है कि इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जायेगा।    

     श्री गहलोत ने आज सोशल मीडिया के जरिए कहा कि सपोटरा में पुजारी बाबूलाल वैष्णव की हत्या अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं निंदनीय है,सभ्य समाज में ऐसे कृत्य का कोई स्थान नहीं है। प्रदेश सरकार इस दुखद समय में शोकाकुल परिजनों के साथ है। उन्होंने कहा कि घटना के प्रमुख आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है एवं कार्रवाई जारी है।

    उन्होंने कहा कि इस मामले में दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।    

    प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने इस मामले में कहा कि इसमें पहले दंड संहिता की धारा 307 में मुकदमा दर्ज किया गया था और पूजारी की मौत के बाद इसे 302 में बदल दिया गया हैं और इस मामले के मुख्य आरोपी कैलाश मीणा को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा पीड़ित परिवार को सुरक्षा का पूरा आश्वासन दिया गया है।

    उल्लेखनीय है कि बुधवार को सपोटरा के बूकना गांव में राधा गोपाल मंदिर के पुजारी बाबू लाल वैष्णव को जलाकर गंभीर रुप से घायल कर दिया गया था जिनकी बाद में जयपुर के एसएमएस अस्पताल में मौत हो गई।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?