कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में उतरने का ऐलान कर दिया है। शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में हुई बैठक में पार्टी ने फैसला लिया कि तीनों नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को जोरदार ढंग से उठाने के लिए पार्टी 15 जनवरी को सभी राज्यों में ‘किसान अधिकार दिवस’ मनाएगी और सभी नेता और कार्यकर्ता राजभवनों का घेराव करेंगे।

कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, “कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने फैसला किया है कि किसानों के समर्थन में हर प्रांतीय मुख्यालय पर कांग्रेस पार्टी 15 जनवरी को किसान अधिकार दिवस के रूप में एक जन आंदोलन करेगी।” सोनिया गांधी के साथ पार्टी के महासचिवों और राज्य के प्रभारियों की आज हुई वर्चुअल बैठक में यह निर्णय लिया गया है।

सुरजेवाला ने कहा कि समय आ गया है कि मोदी सरकार देश के अन्नदाता की चेतावनी को समझे, क्योंकि अब देश के किसान काले कानून खत्म करवाने के लिए करो या मरो की राह पर चल पड़े हैं।


सुरजेवाला ने कहा कि पार्टी 15 जनवरी को विरोध प्रदर्शन और आंदोलन का आयोजन करेगी, जिसमें तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग करने के लिए राजभवन तक मार्च आयोजित किया जाएगा।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?