बंबई हाईकोर्ट ने मंगलवार को बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल को 8 जनवरी को मुंबई पुलिस के सामने पेश होने का आदेश दिया है. इसके साथ ही कंगना और उनकी बहन की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने मुंबई पुलिस को निर्देश दिया है कि वो तब तक कंगना और उनकी बहन रंगोली के खिलाफ कोई कार्रवाई न करे.

मुंबई पुलिस की तरफ से तीन बार समन पर पेश नहीं होने के बाद कंगना रनौत और उनकी बहन की तरफ से केस को रद्द करने का अनुरोध किया गया था, जिसे हाईकोर्ट ने स्वीकार नहीं किया. हाईकोर्ट ने कंगना और उनकी बहन की इस दलील को मानने से इनकार कर दिया कि वे एक पारिवारिक शादी में व्यस्त थीं.

सुनवाई के दौरान अदालत में कंगना के वकील रिजवान सिद्दीकी का बयान रिकॉर्ड पर लिया गया, जिसमें कहा गया कि कंगना रनौत और रंगोली चंदेल उनके खिलाफ दर्ज एफआईआईर के बारे में सार्वजनिक स्तर पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगी. अगली सुनवाई 11 जनवरी को होगी. तब तक के लिए कंगना और उनकी बहन को गिरफ्तारी से राहत मिल गयी है.

बता दें कि इससे पहले मुंबई पुलिस ने कंगना रनौत और रंगोली चंदेल को 26 अक्टूबर, 27 अक्टूबर, 9 नवंबर और 10 नवंबर को पूछताछ के लिए बुलाया गया था, लेकिन वो पुलिस के सामने पेश नहीं हुईं. उन्होंने अपने वकील से कहलवाया था कि वो 15 नवंबर तक अपने भाई की शादी को लेकर हिमाचल प्रदेश में हैं. मुंबई पुलिस ने इसके बाद उन्हें 23 और 24 नवंबर को तीसरा नोटिस भेजा था.

बता दें कि मुंबई पुलिस कंगना और उनकी बहन रंगोली पर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने और सांप्रदायिक तनाव को भड़काने का आरोप लगाते हुए एफआईआर दर्ज किया है.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?