राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस की चौथी लहर आ गई है। इसका ऐलान शुक्रवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने किया। केजरीवाल ने हालात को चिंताजनक बताया है, लेकिन उन्होंने फिलहाल दिल्ली में लॉकाडाउन लगाने से इनकार किया है। हालात की समीक्षा के लिए आज बुलाई गई आपात बैठक के बाद सीएम केजरीवाल ने कहा कि देश अभी में कोरोना की दूसरी लहर है, लेकिन दिल्ली में चौथी लहर है।

पूरे देश के साथ दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों में एक बार फिर तेजी आ गई है। स्वास्थ्य विभाग ने शुक्रवार को कोरोना वायरस के 3582 नए मामले सामने आए हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा कि 16 मार्च को 425 केस थे, आज 3583 नए केस आए हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में तेजी के साथ कोरोना केस बढ़ रहे हैं, जो चिंता की बात है। साथ ही उन्होंने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, हम हर संभव उपाय कर रहे हैं।

हालांकि, केजरीवाल ने कहा कि इस बार की लहर पिछली लहर से कम गंभीर है। केजरीवाल ने कहा कि वर्तमान में कोरोना की जो लहर चल रही है, वो पिछली लहरों की तरह गंभीर नहीं है। इसलिए दिल्ली में किसी भी तरह के लॉकडाउन की जरूरत नहीं है। हमलोग स्थिति की समीक्षा करेंगे। साथ ही केजरीवाल ने कहा कि अगर लॉकडाउन की स्थिति उत्पन्न होती है तो इस तरह का कोई भी फैसला लेने से पहले विचार-विमर्श करेंगे।

बता दें कि कोरोना के ताजा हालात को लेकर केजरीवाल ने आज एक आपात बैठक की जिसमें स्वास्थ्य मंत्री और विभाग के तमाम अधिकारी मौजूद रहे। बैठक में दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर हालात की समीक्षा की गई। बैठक में कोरोना दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन कराने और वैक्सीनेशन में तेजी लाने के निर्देश दिए गए। इसके लिए वैक्सीनेशन सेंटर बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?