Uddhav Thackeray nominated himself for Maharashtra MLC Election 2020
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

मुंबई: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने आज (सोमवार को) मुंबई में महाराष्ट्र विधान परिषद द्विवार्षिक चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। चुनाव 21 मई को होगा। इस मौके पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के उपमुख्यमंत्री अजित पवार, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट और शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं सहित महा विकास अघाड़ी (एमवीए) के कई नेता मौजूद थे।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस शिवसेना व एनसीपी ने संयुक्त सरकार राज्य मे बनायी थी जिसे महाविकास आघाडी सरकार नाम दिया था उद्धव ठाकरे ने चुनाव नही लडा था इसलिये वो विद्यानपरिषद् से अब चुने जा रहे हैं।

विधान परिषद की उपाध्यक्ष नीलम गोरहे ने भी शिवसेना उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन दाखिल किया। NCP के उम्मीदवार शशिकांत शिंदे और अमोल मितकरी और कांग्रेस के राजेश राठौड़ ने भी रिटर्निग ऑफिसर को अपना नामांकन दिया।

विपक्ष भारतीय जनता पार्टी से चार उम्मीदवार रणजीतसिंह मोहिते-पाटिल, प्रवीण दटके, गोपीचंद पडलकर और अजीत गोपछडे मैदान में हैं और उन्होंने भी सोमवार दोपहर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। सभी नौ उम्मीदवारों का निर्विरोध चुना जाना तय है।

एमएलसी चुनावों के साथ ठाकरे एक विधायक के रूप में अपनी शुरुआत करेंगे। यह अनिवार्य था क्योंकि वे विधानमंडल के किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं।

नामांकन दाखिल होने के बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, “नौ एमएलसी सीटों पर चुनाव निर्विरोध होगा। हमने कांग्रेस नेतृत्व के साथ चर्चा की कि यह चुनाव का समय नहीं बल्कि कोविड -19 महामारी से मुकाबला करने का समय है। उन्होंने हमारे अनुरोध का सम्मान किया और अपने दूसरे उम्मीदवार को वापस ले लिया।”

राज्य के उच्च सदन में नौ खाली सीटें 288 सदस्यों वाले विधानसभा के निर्वाचक मंडल के माध्यम से भरी जाएंगी। याद रहे कि महाराष्ट्र मे महाविकास आघाडी सरकार के कामकाज की चर्चा सोशल मीडिया पर जबरदस्त है उद्धव ठाकरे के तेज तर्रार फैसले चर्चा का विषय हैं।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?