बिहार में विधानसभा चुनाव का बिगुल बजा हुआ है. सभी दल अपने-अपने उम्मीदवारों का एलान कर रहे हैं. चुनाव प्रचार भी पूरी रफ्तार पर है. इस चुनावी जंग में एक बेहद रोचक लड़ाई गोपालगंज जिले की हथुआ विधानसभा सीट पर देखने को मिलेगी, जहां सभी दलों को चौंकाते हुए प्रधानमंत्री मोदी के हमशक्ल अभिनंदन पाठक उर्फ नंदन मोदी भी मैदान में कूद गये हैं.

अभिनन्दन पाठक उर्फ़ नंदन मोदी देखने में हुबहू पीएम मोदी की कॉपी हैं. उन्होंने गोपालगंज के हथुआ विधानसभा सीट से बुधवार को नामांकन किया है. नंदन मोदी को वंचित समाज पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है.

अभिनंदन पाठक उर्फ नंदन मोदी भले ही प्रधानमंत्री मोदी के हमशक्ल हैं, लेकिन वो नरेंद्र मोदी की तरह देश का प्रधानमंत्री बनना नहीं चाहते हैं, बल्कि उनकी इच्छा बस बिहार का मुख्यमंत्री बनने तक ही सीमित है.

मोदी के हमशक्ल का कहना है कि यह विकास की लडाई है. यह अमीर और गरीब की लड़ाई है. वे वंचित शोषित समाज के लिए यह लड़ाई लड़ेंगे. जिसमें हरहाल में जीत उनकी ही होगी. बिहार का विकास करने के लिए वो चुनाव जीतने के बाद मुख्यमंत्री बनने की कोशिश करेंगे.

हथुवा विधानसभा सीट पर राजद और जदयू के बीच सीधी टक्कर थी, लेकिन मोदी के हमशक्ल अभिनन्दन पाठक उर्फ़ नंदन मोदी ने मैदान में उतर कर लड़ाई को रोचक बना दिया है. इस सीट पर जदयू का दबदबा रहा है. राज्य के समाज कल्याण मंत्री रामसेवक सिंह हथुआ विधानसभा सीट से 4 बार से विधायक बनते आ रहे हैं. इस बार वह 5वीं बार जीत दर्ज करने के लिए चुनाव मैदान में है.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?