महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का कहर जारी है। मंगलवार को एक बार फिर राज्य में कोरोना संक्रमण के पचास हजार से ज्यादा नए मामले पाए गए। इस के साथ राज्य में कोरोना के कुल मामले 31 लाख को पार कर गए। यह हालत तब है, जब महाराष्ट्र 80 लाख टीकाकरण करने वाला भारत का पहला राज्य बन गया है।

राज्य के स्वास्थ्य अधिकारियों ने ने बताया कि 4 अप्रैल को राज्य में रिकॉर्ड 57,074 नए रोगियों का पता चला था। दो दिन बाद, राज्य में संक्रमण के मामले 47,288 से बढ़कर 55,469 हो गए, जिसके साथ राज्य में कुल मामले 31,13,354 तक जा पहुंचे। राज्य में एक दिन पहले मौतों की संख्या 155 थी, जो बढ़कर 297 हो गई। मौतों की कुल संख्या बढ़कर अब 56,330 हो गई। राज्य की रिकवरी दर सोमवार को फिर से 83.36 प्रतिशत से घटकर 82.98 प्रतिशत हो गई, जबकि मृत्युदर एक दिन पहले 1.81 थी, जो बढ़कर 1.83 प्रतिशत हो गई और सक्रिय मामलों की संख्या 47,283 हो गई।

देश की वाणिज्यिक राजधानी ने तीन दिनों में दूसरी बार, पांच अंकों का आंकड़ा दर्ज किया। मुंबई में 4 अप्रैल को संक्रमण के मामले 11,206 थे, एक दिन पहले 9,879 थे, जो आज बढ़कर 10,040 हो गए, जिससे शहर में संक्रमितों की कुल संख्या 472,600 तक जा पहुंची। इसके साथ ही आज 32 मौतें हुईं, जिससे कुल मौतों की संख्या बढ़कर 11,832 हो गई।

राज्य में कुल मृत्यु में से, नागपुर में 35, जबकि पुणे में 34, मुंबई में 32, नांदेड़ में 29, नासिक में 24, ठाणे में 22, पालघर में 20, अहमदनगर और सोलापुर में 11, सातारा में 10, 9 जलगांव, सांगली, औरंगाबाद और बीड में आठ-आठ, जालना में सात, नंदुरबार और चंद्रपुर में चार-चार, उस्मानाबाद और अकोला में तीन-तीन, रायगढ़, लातूर, यवतमाल, बुलढाना, वाशिम और गोंदिया में एक-एक और परभणी, और अमरावती में एक की मौत हुई। इस बीच, घर में अलग होकर रहने वालों की संख्या अब 24,55,498 तक पहुंच गई, जबकि संस्थागत क्वारंटीन में रह रहे लोगों की संख्या बढ़कर 22,797 हो गई।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?