बीजेपी ने हैदराबाद नगर निगम चुनाव को जीतने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. हालत यह है कि बीजेपी शासित तमाम राज्यों के मुख्यमंत्री हैदारबाद में डेरा डाले हुए हैं. मोदी सरकार में नंबर टू केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तक हैदराबाद पहुंच गये हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के नेतृत्व में बीजेपी के तमाम बड़े नेताओं की फौज इन दिनों हैदराबाद की गलियों-कूचों में घूम रही है. हैदराबाद पर कब्जा जमान की बीजेपी की हसरत पर एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने जबरदस्त निशाना साधा है. उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा है कि हैदराबाद नगर निगम चुनाव में प्रचार करने के लिए अब सिर्फ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप बच गए हैं.

ओवैसी ने शनिवार को हैदारबाद में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसा नहीं लग रहा है कि ये हैदराबाद का चुनाव है. हैदराबाद का चुनाव इस तरह से लड़ा जा रहा है जैसे कि हैदराबाद के लोग नया वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) चुनने जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने बड़े मंत्रियों और मुख्यमंत्रियों को बुलाया है. अब सिर्फ हैदराबाद नगर निगम चुनाव में प्रचार के लिए डोनाल्ड ट्रंप को बुलाना बचा है. आप उन्हें बुला सकते हैं, लेकिन कुछ फर्क नहीं पड़ेगा. इंशाअल्लाह, चुनाव में मजलिस (एआईएमआईएम) ही जीतेगी.

गौरतलब है कि कि बीजेपी ने चुनाव प्रचार के लिए पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा, स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, से लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को चुनावी मैदान में उतार दिया है. गृह मंत्री अमित शाह भी आज हैदराबाद में रोड शो कर रहे हैं. यह भी सुनने में आ रहा है कि प्रधानमंत्री मोदी भी प्रचार के लिए हैदराबाद पहुंच सकते हैं. हैदराबाद नगर निगम चुनाव में एक दिसंबर को वोट डाले जायेंगे, जबकि वोटों की गिनती 4 दिसंबर को होगी.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?