संघ प्रमुख मोहन भागवत द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (सीसीए) को लेकर दिए गए बयान पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है. ओवैसी ने कहा है कि हम बच्चे नहीं हैं, जिन्हें नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर गुमराह किया जाए.

असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि बीजेपी ने इस बारे में कुछ नहीं कहा है कि सीएए+एनआरसी का करना क्या था. अगर यह मुस्लिमों के बारे में नहीं है, तो इसमें धर्म संबंधी हर चीज को हटा दें. यह याद रखें कि हम तक तक विरोध करते रहेंगे जब तक ऐसा एक भी कानून रहेगा, जो हमें हमारी भारतीयता साबित करने को कहेगा.

बता दें कि रविवार दशहरे के मौके पर आरएसएस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि सीएए किसी धर्म के खिलाफ नहीं है. फिर भी कुछ लोगों ने इस कानून का विरोध किया और हमारे मुस्लिम भाइयों को गुमराह किया कि यह कानून मुस्लिम आबादी को प्रतिबंधित करने के लिए लाया गया था. जिसके कारण विरोध प्रदर्शन हुए.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?