उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले में एक मंदिर के महंत और उसके चेलों ने भगवान के घर को दागदार कर दिया. बदायूं में एक महिला के साथ दिल्ली के निर्भया केस जैसी विभत्स घटना हुई है. एक अधेड़ महिला के साथ हुई हैवानियत की सभी हदों को पार करते हुए उसके साथ गैंगरेप किया गया. जिसके बाद उसकी मौत हो गई. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि हैवानों ने महिला के गुप्तांग में रॉड जैसी किसी चीज से हमला किया गया, जिससे उसके प्राइवेट पार्ट पर गंभीर चोटें आई हैं. सिर्फ यही नहीं, बल्कि महिला की पसली और पैर तोड़ दिए गए. फेफड़े पर भी वजनदार चीज से हमला किया गया.

इंसानियत को झकझोर देने वाली यह वारदात बदायूं जिलके उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की है. यहां की एक अधेड़ महिला पास के गांव स्थित एक मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार को भी गई थी. देर रात मंदिर का महंत अपनी बोलेरो से उसका शव घर के दरवाजे पर फेंककर चला गया.

महिला के घरवालों ने गैंगरेप के बाद हत्या का आरोप लगाया लेकिन उघैती के थानेदार रावेंद्र प्रताप सिंह ने उनकी फरियाद सुनना तो दूर घटनास्थल का मुआयना तक नहीं किया. जब इस घटना की खबर मीडिया तक पहुंची तब सोमवार की दोपहर 18 घंटे बाद लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजी गई.

मामले के तूल पकड़ने के बाद जिला पुलिस हरकत में आई है. दो लोगों को गिरफ्तार किये जाने का दावा किया जा रहा है, लेकिन मुख्य आरोपी मंदिर का महंत अभी तक फरार है.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?