जयपुर:- राजस्थान की कांग्रेस सरकार ने नई उपलब्धि हासिल करते हुए इस कोरोनाकाल मे अपने आपको बेहतर शासन देने वाली सरकार के रुप मे साबित किया हैं राजस्थान मनरेगा से काम देने मे पूरे देश भर मे नंबर वन पर काबिज हो चुका है जबकि यूपी दूसरे नंबर पर हैं मनरेगा से 24 लाख मजदूरो को काम मिल रहा है जिसकी जानकारी राज्य के उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने दी हैं।

इसके साथ साथ राजस्थान के उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कोरोना महामारी के चलते जारी लॉकडाउन के कारण विभिन्न राज्यों से प्रदेश में लौट रहे लाखों श्रमिकों को भी ग्रामीण क्षेत्रों में उनकी ग्राम पंचायतों में मनरेगा योजना के तहत रोजगार उपलब्ध कराने हेतु विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं।

पायलट ने कहा कि इसके लिए प्रदेशभर में विशेष अभियान चलाकर कार्य करने के इच्छुक प्रवासी श्रमिकों से रोजगार हेतु मांग पत्र प्रपत्र-6 भरवाकर रोजगार उपलब्ध करवाया जायेगा और आवश्यकतानुसार प्रवासी श्रमिकों के नये जॉब-कार्ड भी जारी किये जायेंगे.

पायलट ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में 25 लाख से अधिक लोगों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध करवाकर राजस्थान देश में प्रथम स्थान पर हैं. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के कारण रोजगार के अभाव में विभिन्न राज्यों से प्रदेश में लौटे श्रमिकों को मनरेगा के तहत रोजगार उपलब्ध करवाकर उन्हें आर्थिक सम्बल दिया जायेगा।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?