जयपुर: कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्री गहलोत ने प्रदेश के बेरोजगारों के लिए बड़ा तोहफा देते हुए विभिन्न पदों पर भर्ती की मंजूरी दी है. कोविड-19 महामारी के संक्रमण को देखते हुए मुख्यमंत्री गहलोत ने सहायक रेडियोग्राफर के 1058 रिक्त पदोें पर शीघ्र भर्ती किए जाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है.

गहलोत ने राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड में 37 नए पदों के सृजन को भी मंजूरी दी है. इसमें सूचना सहायक के 10, लिपिक ग्रेड द्वितीय के 10, लिपिक ग्रेड प्रथम के 4 पद तथा 6 पद चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के हैं. इसके अलावा अनुभागाधिकारी, सहायक अनुभागाधिकारी एवं सहायक प्रोग्रामर के 2-2 पद तथा सहायक शासन सचिव का 1 पद सृजित किया गया है.

मुख्यमंत्री ने अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत सीकर, राजसंमद, चित्तौड़गढ़, चूरू, जालौर एवं पुलिस जिला भिवाड़ी में स्थापित विशिष्ट न्यायालयों में सहायक निदेशक अभियोजन के 1-1 पद के सृजन की स्वीकृति दी है. इसके अलावा राजकीय महाविद्यालय, राजाखेड़ा को स्नातकोत्तर स्तर पर क्रमोन्नत करने एवं वहां राजनीति विज्ञान विषय में सहायक आचार्य के 2 पद सृजित करने तथा महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय, बीकानेर में विधि संकाय के सहायक आचार्य के 2 पदों के सह आचार्य के पदों पर क्रमोन्नत करने के प्रस्तावों को मुख्यमंत्री ने मंजूरी दी है.

आपको बताये कि राजस्थान की कांग्रेस सरकार लगातार युवाओ के हित मे निर्णय ले रही है कोरोना विपदा से पहले भी जो युवाओ से कांग्रेस ने वादे किये थे वो पूरे कर लिये गये थे अब जब देश संकट से जूझ रहा है तब युवाओ को इस प्रकार की सौगात मिलना जरुर बेरोजगार युवाओ को राहत देगा।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?