पूरे देश मे कोरोना से हाल बदतर है पीएम मोदी के गृहनगर गुजरात में कोरॉना से हुई मौतों से अस्पताल के बाहर लाशों का ढेर लगा है दाह संस्कार के लिए लाइन लगी है ये सब उस भारत में हो रहा है जहा अरबों रुपए एक मूर्ति में लगा दिए जाते है।

अगर समय पर सरकार ने अस्पतालों मे बैड की व्यस्वथा कर ली होती तो आज देश में इस तरह की आपदा से लचर तरीके से लड़ाई नहीं लड़ाई जाती पर अफसोस देश में इस मुद्दे पर कभी चर्चा ही नहीं हुई।

मशहूर एक्टर सोनू सूद ने आज ट्वीट करके काम शब्दो मे गहरी बात की है उन्होंने लिखा कि ” महामारी की सबसे बड़ी सीख:

देश बचाना है
तो और अस्पताल बनाना है। “

इस बात का कही लोगो ने भी समर्थन किया है आज देश के बदतर हालत के जिम्मेदार देश का को प्रत्येक नागरिक है जिसने अस्पताल जैसे जरूरी मुद्दों को भुलाकर मंदिर मस्जिद जैसे मुद्दों को तरजीह दी है।

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?