पिछले चार महीने से तमाम न्यूज चैनल बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के नाम की रट लगाये हुए हैं. किसानों, बेरोजगारी और बदहाल अर्थव्यवस्था के बजाय सिर्फ सुशांत की बात हो रही है. दावा किया जा रहा है कि उनकी हत्या की गई है, लेकिन इन बेशर्म न्यूज चैनलों की पोल एम्स के डॉक्टरों ने खोल दी है.

दिल्ली के एम्स के डॉक्टरों के एक पैनल ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में सीबीआई को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है. सूत्रों के मुताबिक, इस रिपोर्ट में कहा गया है कि सुशांत की मौत जहर देने की वजह से नहीं हुई है.

बता दें कि जहर देने के दावे सुशांत के परिवार और मीडिया और बीजेपी नेताओं की तरफ से किये गए थे. हालांकि मुंबई पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में सुशांत की मौत को आत्महत्या बताया था, लेकिन सुशांत के परिवार और गोदी मीडिया ने मुंबई पुलिस के इस दावे के खिलाफ आसमान सर पर उठा लिया था. बाद में इस मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई थी.

सूत्रों के अनुसार सीबीआई भी इस मामले को आत्महत्या का केस मान चुकी है. इसलिए काफी दिनों से सीबीआई खामोश है, लेकिन बिहार चुनाव के मद्देनजर इस मामले को तूल दिया जा रहा है. इसलिए अब सुशांत की मौत की नहीं, बल्कि बॉलीवुड के सितारों के गांजा पीने की जांच हो रही है. बीजेपी के इशारे पर नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) मीडिया की सांठगांठ के साथ रोज नये-नये शिगुफे छोड़ रहा है और पूरे देश को इसमें उलझाये रखा गया है.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?