सरकार ने 16 जनवरी से देश भर में कोरोना टीकाकरण शुरू करने का एलान किया है. इसके लिए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाया गया कोरोना टीका कोविशिल़्ड राज्यों तक पहुंचने लगा है. सरकार ने कोविशिल्ड के साथ-साथ भारत बायोटेक के कोरोना टीका कोवैक्सीन को भी इस्तेमाल की मंजूरी दी है.

भारत बायोटेक के वैक्सीन के बारे में दावा किया जा रहा है कि यह पूरी तरह स्वदेशी है. हालांकि इसे लेकर विवाद भी उत्पन्न हो गया है. दावा किया जा रहा है कि ट्रायल पूरा किये बगैर ही इसके इस्तेमाल की इजाजत दी गई है. इसके ट्रायल के दौरान एक व्यक्ति की मौत भी हो चुकी है. इस विवाद को खत्म करने के लिए अब यह मांग उठी है कि भारत बायोटेक के स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन की पहली ड़ोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी जाये.

ट्वीटर पर ‘#पहलाटीकामोदी_को’ ट्रेंड कर रहा है. नरेंद्र मोदी को कोरोना का पहला टीका देने की मांग में लोग तरह-तरह के तथ्य सामने रख रहे हैं. जो बड़े ही मजेदार हैं.

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?