राजद नेता और महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने मंगलवार को कहा कि अगर सत्ता में आए तो वह बीपीएससी उम्मीदवारों की सभी श्रेणियों के लिए ऊपरी आयु सीमा बढ़ा देंगे और उनकी सरकार शिक्षा पर राज्य के बजट का 22 प्रतिशत खर्च करेगी. तेजस्वी ने आरोप लगाया कि बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) न तो समय पर कोई परीक्षा आयोजित करता है और न ही समय पर परिणाम की घोषणा करता है, युवा बीपीएससी कार्यालय के बाहर इंतजार करते रहते हैं और यह पूछते फिरते हैं कि क्या 2014 की परीक्षा के परिणाम घोषित किए गए हैं.

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि बीपीएससी द्वारा “देरी” के कारण आयु सीमा पार कर जाने के कारण कई उम्मीदवार परीक्षा मे शामिल होने से वंचित रह जाते हैं. तेजस्वी ने पूछा, “अगर बीपीएससी (परीक्षा आयोजित करने और परिणाम की घोषणा करने में) देरी करती है, बिहार के युवा क्यों नुकसान उठाए? हम सामान्य और साथ ही आरक्षित श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा बढ़ाएंगे.”

आप इस स्टोरी के बारे में कुछ कहना चाहते हैं?